Type Here to Get Search Results !

टी-20 वर्ल्ड कप:अगर ये महिला गेंदबाज़ टीम में नहीं होती तो भारत आज ऑस्ट्रेलिया से हार जाता

0


भारत ने लेग स्पिनर पूनम यादव की जादुई गेंदबाज़ी की वजह से शुक्रवार को महिला टी 20 विश्व कप के शुरुआती मैच में गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया पर 17 रनों से आसान जीत दर्ज करी। 


बल्लेबाजी करने उतरी भारत ने पहले 132 रनों का लक्ष्य दिया, लेकिन पूनम यादव की गूगली में फास कर ऑस्ट्रेलियाई टीम को जल्द ही समेट दिया, जिससे मैच निर्णायक रूप से उसकी टीम के पक्ष में हो गया।



भारत की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने मैच के बाद कहा ऑस्ट्रेलिया, जिसने छह संस्करणों में चार बार प्रतियोगिता जीती है, 19.5 ओवरों में 115 पर ऑल आउट हो गए जिसकी वजह थी पूनम जैसी गेंदबाज जिसने ये चमत्कार कर दिखाया।हम उससे एक शानदार वापसी की उम्मीद कर रहे थे। हमारी टीम अच्छी लग रही है, पहले हम दो-तीन खिलाड़ियों पर निर्भर थे। 


हाथ की चोट के कारण पूर्व त्रिकोणीय श्रृंखला से चूकने वाली पूनम को भी तेज गेंदबाज शिखा पांडे सहित अन्य गेंदबाजों का अच्छा समर्थन मिला।



आगरा की यह 28 वर्षीय खिलाड़ी हैट्रिक लेने वाली थी, लेकिन विकेटकीपर तान्या भाटिया ने मुश्किल मौका छोड़ दिया।


टूर्नामेंट में भारत का समर्थन करने वाले समर्थकों की रिकॉर्ड 13,000 से अधिक की उपस्थिति देखी।ये सब भारत का समर्थन करने आये थे। भारत 24 फरवरी को बांग्लादेश के खिलाफ पर्थ में खेलेगा।


पूनम ने मैच के बाद की प्रस्तुति में कहा की मेरे लिए यह काफी अच्छा था कि मैं चोट से उबरकर इस तरह का प्रदर्शन कर सकी। यह तीसरी बार था जब मैं हैट्रिक पर थी लेकिन संतुष्ट थी कि मैं टीम के लिए काम करने में सक्षम थी।



सलामी बल्लेबाज एलिसा हीली ने 35 गेंदों में 51 रन बनाकर छह चौके और एक छक्का लगाकर ऑस्ट्रेलिया को अच्छी शुरुआत दी।


हालांकि, पूनम की अगुवाई में भारतीय स्पिनरों ने ऑस्ट्रेलिया का विकेट गिराना शुरू कर दिया और ऑस्ट्रेलिया अचानक छह विकेट खोकर 82 पर फिसल गयी।


पूनम (4/19) ने 12 वें ओवर में लगातार दो विकेट लिए, जिससे ऑस्ट्रेलिया लक्ष्य का पीछा करने में धीमी हो गयी।


एशले गार्डनर (34 रन बनाये) ने अपनी कोशिश की, लेकिन दूसरे छोर से उन्हें कोई समर्थन नहीं मिला।


इससे पहले, भारत ने बल्लेबाज़ी में शुरुआत अच्छी की थी। सोलह साल की शैफाली वर्मा ने भारत को चार ओवर में बिना किसी नुकसान के 40 रन तक पहुंचा दिया। शैफाली ने 5 गेंद पर 29 रन बनाये, लेकिन दूसरे बल्लेबाजों के निराश करने के कारण शैफाली की पारी ज्यादा दूर तक नहीं चल पायी।


दीप्ति शर्मा ने पारी के दूसरे हाफ में 46 गेंदों में 49 रनों की पारी खेली, लेकिन डेथ ओवरों में भारत को जिस मारक क्षमता की जरूरत थी वह बुरी तरह गायब थी। भारत ने शुरू में शफाली को क्लीनर्स के विरोध में ले जाते हुए पांच चौके और एक छक्का लगाया। हालांकि, बाएं हाथ के स्पिनर जेस जोनासेन (2/24) ने दो तेज विकेट, स्मृति मंधाना (11 रन पर 10) और हरमनप्रीत (5 रन पर 2) को आउट करके भारत को तीन विकेट पर 47 रनों पर समेट दिया।


दीप्ति ने इसके बाद जेमिमाह रोड्रिग्स (33 बॉल पर 26 रन) के साथ 53 रन की साझेदारी करते हुए 16 वें ओवर में 100 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया के लिए, एलिसे पेरी (1/15) और डेलिसा किमिन्स (1/24) दूसरे विकेट लेने वाले खिलाड़ी थे।


Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad