Type Here to Get Search Results !

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की हालत हुई गंभीर, उनकी बहन किम यो-जोंग संभाल सकती है सत्ता? 

0


नई दिल्ली: उत्तर कोरिया अपनी गोपनीयता बनाए रखने में कभी विफल नहीं होता है, खासकर जब वह अपने शीर्ष नेतृत्व के बारे में कयास लगाता है। उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन की स्वास्थ्य स्थिति के बारे में अफवाहें तेज हो गईं जब एक अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि वह 'एक दिल की सर्जरी के बाद गंभीर खतरे' में हैं।


हालांकि, उत्तर कोरियाई राज्य मीडिया ने नेता की स्वास्थ्य स्थिति या हृदय की स्तिथि पर मीडिया द्वारा की टिप्पणी को चुप्पी को बरकरार रखा हुआ है। इसके बजाय, मीडिया ने नियमित व्यावसायिक छवि प्रस्तुत की, अपनी पिछली उपलब्धियों और टिप्पणियों पर रिपोर्टिंग की।


ये भी पढ़ें : बिल गेट्स ने की PM मोदी की तारीफ, बोले- कोरोना से भारत को बचाने के लिए आपके प्रयास सराहनीय


दक्षिण कोरियाई और चीनी अधिकारियों ने भी, किम जोंग-उन के स्वास्थ्य के संबंध में कोई असामान्य संकेत नहीं होने की पुष्टि करते हुए अमेरिकी रिपोर्ट पर अपना संदेह व्यक्त किया।


15 अप्रैल को अपने दिवंगत दादा और राज्य के संस्थापक किम इल-सुंग के 108 वें जन्मदिन के अवसर पर किम के पैलेस में वार्षिक यात्रा को छोड़ने के बाद से किम के साथ क्या हुआ, इसके बारे में अटकलें बढ़ गईं।


किम जोंग उन के पिता भी हुए थे 'लापता'


किम जोंग उन के सामने नहीं आने पर विशेषज्ञों को यह भरोसा नहीं हो रहा था कि वह अपने दादा के जन्‍मद‍िन पर होने वाले उत्‍सव से क्‍यों लापता हैं। इससे पहले अगर ऐसे मौकों पर उत्‍तर कोरियाई शासक दिखाई नहीं देते थे तो माना जाता था कि कुछ बड़ा हुआ है।


उत्‍तर कोरियाई मामलों के विशेषज्ञ ब्रूस क्‍लींगर ने कहा, 'पिछले काफी समय से किम के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर बहुत सी अफवाहें उड़ रही थीं। अगर वह अस्‍पताल में हैं तो यह बताता है कि क्‍यों वह 15 अप्रैल के जश्‍न में शामिल नहीं थे।'


महीनों तक, किम में कथित तौर पर स्वास्थ्य समस्याँए थी, जो मोटापे, भारी धूम्रपान और कार्यभार की वजह से था।


सितंबर 2014 में, वह लोगों की नज़रों से ओझल हो गया और 40 दिनों के बाद अपने टखने से एक सिस्ट को हटाने के लिए सर्जरी कराने के बाद लंगड़ा कर लौट आया।


किम यो-जोंग संभाल सकती है सत्ता 


हालांकि अब तक कुछ भी स्पष्ट नहीं है, लेकिन सभी की निगाहें किम यो-जोंग, किम जोंग-उन की बहन पर टिकी हैं, जो किम की बीमारी के बाद सत्ता संभाल सकती है।


किम जोंग-उन की बहन और सात भाई-बहनों में सबसे छोटे, किम यो-जोंग 1987 में पैदा हुई थी, और पहली बार 2011 में अपने पिता किम जोंग इल के अंतिम संस्कार के दौरान सुर्खियों में आई थी।


किम यो-जोंग पहले से ही उनके साथ रैंकों में धीरे-धीरे बढ़ रही है और सरकार के भीतर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल रही है।


उन्हें अब उत्तर कोरिया की सबसे शक्तिशाली महिला माना जाता है।


Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad