Type Here to Get Search Results !

आतंकी जिसे अपना अड्डा बनना चाहते थे अब वो भारत के पेंसिल जिले के रूप में जाना जाएगा

0


श्रीनगर: पुलवामा हमेशा से कश्मीर का आतंकी अड्डा होने के कारण खबरों में रहा है, लेकिन जल्द ही यह जिला भारत के पेंसिल जिले के रूप में जाना जाएगा। पुलवामा पेंसिल के लिए स्लैट्स बना रहा है और अब स्लेट की 90 प्रतिशत आपूर्ति पुलवामा जिले में स्थापित 17 इकाइयों से होगी। पुलवामा के पेंसिल स्लैट व्यवसाय में हर साल 100 करोड़ से अधिक का कारोबार होता है।


देश में पेंसिल बनाने वाली सभी प्रमुख कंपनियाँ पुलवामा से प्राप्त स्लैट्स की खरीद करती हैं। और व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि अगर उन्हें कच्चा माल मिल जाता है, तो उनका व्यापार घाटी में स्थापित किया जा सकता है, न केवल राजस्व ला सकता है बल्कि नौकरी के अवसर भी पैदा कर सकता है। मंज़ूर अहमद इलही, जो 2010 से कारोबार में हैं, कश्मीर में कारोबार शुरू करने वाले पहले व्यक्ति हैं। वे कहते हैं, “पेंसिल के लिए लकड़ी चीन और जर्मनी से आती थी। लेकिन फिर मैं उसमें घुस गया और पहले ब्लॉक्स बनाया और बाद में स्लैट्स बनाने की मशीनें मिलीं। इसके लिए चिनार की लकड़ी का उपयोग किया जाता है, और यह कश्मीर में बहुतायत में मिलती है। '' सरकार अब इस गांव का ही नहीं बल्कि पूरे जिले का नाम पेंसिल जिले के रूप में रखना चाहती है।


अब तक, पुलवामा में पेंसिल स्लेट बनाया जाता था, लेकिन अब सरकार यहां से पेंसिल बनाने के लिए इकाइयां स्थापित करना चाहती है। सरकार घाटी से पोपलर लकड़ी की कच्ची सामग्री की आवश्यकताओं को बढ़ाने की कोशिश कर रही है। जिला उद्योग निगम के एक कर्मचारी मुबाशिर अहमद कहते हैं, "90 प्रतिशत स्लैट्स की आपूर्ति यहां से भेजी जाती है। हम उत्पादकों और यूनिट बिल्डरों को उतना ही समर्थन दे रहे हैं। हम इस जिले को पेंसिल डिस्ट्रिक्ट के रूप में नामित करने के बारे में भी सोच रहे हैं।" कुल मिलाकर हमारे यहाँ 17 इकाइयाँ हैं। बहुत सारी पहलें यह सुनिश्चित करने के लिए शुरू की जा रही हैं कि पुलवामा में हर कोई इस व्यवसाय को अपनाए। पुलवामा श्रीनगर से 40 किलोमीटर दूर है और धीरे-धीरे पेंसिल बनाने का केंद्र बनता जा रहा है। 17 स्थापित इकाइयों और बनाने में अधिक। पुलवामा जिले की प्रगतिशील कहानियों के बारे में लोगों को बताने के लिए सरकार पूरी कोशिश कर रही है।


Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad