Coronavirus Vaccine Update : भारत में अगले महीने के अंत तक वैक्सीन को आपातकालीन स्वीकृति मिल सकती है

NCI
0

जैसा की आप सबको पता है की ब्रिटेन ने अपने यहाँ फ़ाइज़र की वैक्सीन को मान्यता दे दी है। उसी के मद्देनज़र अब भारत में भी लोग बेसब्री से वैक्सीन का इंतज़ार कर रहे है। आपको बता दे की सीरम इंस्टिट्यूट की वैक्सीन कविदशील्ड पर सबकी नज़र है। लेकिन चेन्नई के रहने वाले एक व्यक्ति ने उस पर वैक्सीन के दुष्प्रभाव होने का इलज़ाम लगाया है। 

सीरम इंस्टिट्यूट ने इस पर कहा की हमारी वैक्सीन से ऐसा कोई दुष्प्रभाव नहीं हुआ है और यह कंपनी को बदनाम करने की साजिश है। कंपनी ने इस पर एक्शन लेने की भी बात कही है। भारत में तीन वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है जिसमे कोवैक्सीन पर सभी की सबसे ज्यादा नज़र और उम्मीद है। कोवेक्सिन अपने आखरी चरण के ट्रायल कर रही है जो जल्द पूरी हो जायेगी। इतना ही नहीं जायडस काडिल्ला की भी वैक्सीन तीसरे चरण का ट्रायल शुरू करने वाली है।

एम्स दिल्ली के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा की भारत में, अब हमारे पास टीके हैं जो उनके अंतिम परीक्षण चरण में हैं। उम्मीद है कि इस महीने के अंत तक या अगले महीने की शुरुआत में हमें भारतीय नियामक अधिकारियों से आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण प्राप्त करना चाहिए ताकि जनता को वैक्सीन देना शुरू किया जा सके।  

आपको बता दें कि भारत में वर्ल्डोमीटर वेबसाइट के अनुसार 95 लाख केस हो चुके है। इसमें से लगभग 4 लाख एक्टिव केस है और लगभग 89 लाख लोग इस बीमारी को मात दे चुके है और लगभग एक लाख 38 हज़ार लोग अपने जीवन को खो चुके है।  

ये भी पढ़ें : फाइजर कंपनी को मिली सबसे पहले कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की मंज़ूरी  

भारत सरकार ने वैक्सीन किसे सबसे पहले मिले इसकी पूरी तैयारी कर रखी है। आपको बता दे वैक्सीन लगाने के बाद भी लोगो को कोविद के नियमो का पालन करना ही पड़ेगा। लोगों को सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करना होगा। जब तक हर कोई बीमारी से लड़ने में सक्षम नहीं होगा तब तक  को हराना मुश्किल होगा। 



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accepted !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top