No Covid People : क्यों कुछ लोगों को कभी कोरोना नहीं होता ?

NCI
0
 
कोरोना को आये हुए लगभग 2 साल से ऊपर हो गए हैं और भारत में कोरोना की दूसरी लहर तो इतनी खतरनाक थी की उसे बयान ही नहीं किया जा सकता। कोरोना की दूसरी लहर में लगभग हर कोई बीमार पड़ा था। आपने भी अपने आसपास किसी न किसी को बीमार देखा ही होगा। लेकिन फिर भी कुछ लोग ऐसे है जिन्हे अभी तक कोरोना नहीं हुआ है। ये जरूर है की ऐसे लोगों की संख्या कम होंगी। आप भी अपने आसपास किसी न किसी को जानते होंगे जिन्हे अभी तक कोरोना नहीं हुआ है। 
 
ये अच्छी बात है की उन्हें कोरोना नहीं हुआ है लेकिन कभी आपके मन में ये सवाल आया है की ऐसा क्या है की कुछ लोग ने कोरोना की इतनी भयंकर लहर को भी चखमा दे दिया ? इसी सवाल का जवाब ढूढ़ते - ढूंढते हमे क्वार्ट्ज़ द्वारा पब्लिश एक आर्टिकल के बारे में पता चला।  इस आर्टिकल मे  अमेरिकी रिसर्च के बारे में  लिखा है की जिन अमेरिकियों को अभी तक कोविड -19 नहीं हुआ है, उनकी जनसँख्या काफी कम है। यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) से इस सप्ताह प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि वयस्कों से रैंडम तरीके से चुने गए रक्त के 58% नमूनों में एंटीबॉडी थे जो यह दर्शाते हैं कि वे पहले वायरस से संक्रमित थे; बच्चों में, यह दर 75% थी, पर सवाल ये की उन लोगों में क्या जो अभी तक संक्रमित नहीं हुए?

एक्सपर्ट्स कहते है की कुछ लोग भीड़-भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाते या पार्टीज में हिस्सा नहीं लेते जिससे संक्रमण का खतरा कम रहता है। कुछ एक्सपर्ट्स का ये भी कहना है की जिन लोगों को कोरोना नहीं हुआ है उन लोगों ने सभी तरीके से कोरोना के बचने के तरीकों को अपनाया था, चाहे वो हाथ सैनेटाइज़ हो, मास्क पहनना हो या फिर सोशल डिस्टन्सिंग, इन सब कारणों से भी वह कोरोना से बचे रहे होंगे। 

कुछ लोगों की प्रतिरोधक क्षमता(immunity) बाकियों के मुकाबले काफी अच्छी होती है।  जिसके कारण भी वह 

कोरोना से बचे रहे होंगे। एक अन्य अध्ययन से पता चलता है कि जन्मजात प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत सुरक्षा प्रदान करती है। जो रोगजनकों को किसी व्यक्ति के शरीर को संक्रमित करने से रोकती हैं और संक्रमण को भी रोक सकती हैं। एक जन्मजात प्रतिरक्षा प्रणाली जो पहले से ही अन्य चिकित्सा स्थितियों या जीवनशैली कारकों जैसे नींद या आहार के कारण काम नहीं कर रही है, एक व्यक्ति का कोरोना से बीमार होने खतरा ज्यादा हो सकता है।ये भी हो सकता है की वैक्सीन ने बीमारी की फैलने की क्षमता को कम कर दिया हो जिसकी वजह से भी वह बचे रहे हों। 

कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है की" ये भी हो सकता है की कुछ पहले से अन्य कोरोनावायरसों से संक्रमित हो चुके होंगे, जो उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली को समान आकार के वायरस को याद रखने और उनसे लड़ने के लिए तैयार रखता है ।

इन सभी चीज़ों से ये अभी भी साफ़ नहीं हुआ है की कैसे कुछ लोगों ने कोरोना चखमा दिया ? क्योंकि इसका कोई दूसरा कारण भी जरूर होगा। दुनिया के वैज्ञानिक अभी भी कोरोना पर रिसर्च करने में लगे हुए है, हो सकता है हमे भविष्य में ये जानकारी मिल जाए। अभी तक सबसे अच्छा यही है की जिन्हे कोरोना नहीं हुआ है वह अपने आप खुशकिस्मत समझे और टीकाकरण अभियान में भाग ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accepted !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top